पोलिग पार्टी अपनी ड्यूटी को स्वतंत्र व निष्पक्ष रूप से निभाएं:- जितेन्द्र गर्ग

0
7

नूंह 12 अक्तूबर:-  81 पुन्हाना विधानसभा क्षेत्र की पोलिंग पार्टियों की रिहर्सल शनिवार को यासीन मेव डिग्री कालेज में सामान्य ऑब्जर्वर श्री सुरेन्द्र प्रसाद सिंह की उपस्थित में आयोजित हुई। इस मौके पर रिर्टनिग अधिकारी पुन्हाना जितेन्द्र गर्ग, एसडीएम तावडू़ सतीश कुमार यादव ने पोलिंग पार्टियों को विस्तार से जानकारी दी। रिर्टनिंग अधिकारी पुन्हाना जितेन्द्र गर्ग ने पोलिंग पार्टियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि मतदान केन्द्र पर पीठासीन अधिकारी सहित पोलिग पार्टी का कार्य बहुत महत्वपूर्ण एवं जिम्मेदारी का कार्य होता है। ऐसे में पोलिग पार्टी अपनी ड्यूटी को स्वतंत्र व निष्पक्ष रूप से निभाएं। उन्होंने कहा कि निष्पक्ष रूप से मतदान करवाना हम सबका कत्र्तव्य है, इसलिए हम सभी की यह ड्यूटी बनती है कि चुनाव प्रक्रिया को अच्छी तरह समझ कर इस महत्वपूर्ण जिम्मेदारी को पूरा करें। उन्होंने कहा कि चुनाव ड्यूटी में किसी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी और कोताही करने वालों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी, इसलिए पीठासीन अधिकारी व पोलिग पार्टी अपने बूथ पर मतदान के दिन पूरी जिम्मेदारी से कार्य करें। उन्होंने बताया कि पोलिंग से पहले मॉक पोल करवाना जरूरी है। उन्होंने यह भी बताया कि नेत्रहीन व्यक्ति के साथ बूथ पर एक आदमी अंदर जा सकता है। उन्होंने कहा कि मतदान केंद्र के भीतर मोबाइल फोन लेकर जाना पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा। उन्होंने बताया कि 21 अक्तूबर को विधानसभा चुनाव के लिए सुबह 7 से सायं 6 बजे तक मतदान होगा। इससे डेढ घंटा पूर्व 5:30 बजे पोलिंग एजेंट्स की मौजूदगी में मोक पोल करवाया जाएगा। उन्होंने हिदायत दी कि मोक पोल की प्रक्रिया संपन्न होने के बाद ईवीएम मशीन को क्लीयर करना न भूलें। इसी प्रकार मतदान संपन्न होने के बाद मशीन को क्लोज करना भी बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि सभी पीओ हर दो घंटे के अंतराल पर मतदान प्रतिशत और वोट संख्या की जानकारी पीओ डायरी में नोट करेंगे तथा इसकी सूचना नियंत्रण कक्ष में भी भिजवाना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने फार्म 17ए, 17सी, डिक्लेरेशन फार्म, पीओ डायरी तथ अन्य सभी प्रकार के दस्तावेज व फार्म भरने के संबंध में विस्तार से जानकारी देते हुए उन्हें मतदान प्रक्रिया की बारीकियों के बारे में विस्तार से बताया।

एसडीएम तावडू़ सतीश यादव ने कहा कि पोलिंग पार्टियों की मदद के लिए सेक्टर ऑफिसर्स, माइक्रो ऑब्जर्वर, जोनल मजिस्ट्रेट तथा बीएलओ भी लगाए गए हैं ताकि मतदान प्रक्रिया सुचारू तरीके से संपन्न हो। उन्होंने कहा कि मतदान केंद्र के भीतर न तो कोई व्यक्ति हथियार लेकर जा सकता है और न ही मतदान प्रक्रिया की फोटो या वीडियो आदि बनाई जा सकती है। उन्होंने कहा कि कोई भी कर्मी ईवीएम मशीन को लेकर बूथों के अलावा कहीं और न जाए। ऐसा करना दंडनीय अपराध है। बूथ पर जाकर पोलिंग पार्टी वहां की व्यवस्था देखे और सुनिश्चित करे कि मतदान केंद्र पर किसी प्रत्याशी आदि की प्रचार सामग्री न लगी हो। पोलिंग पार्टियां उसी दिन शाम को पोलिंग एजेंट्स से मुलाकात कर लें और उन्हें बता दें कि 21 अक्तूबर को सुबह 5:30 बजे सभी एजेंट मोक पोल के लिए मौजूद रहें। एक बूथ पर एक प्रत्याशी का केवल एक पोलिंग एजेंट ही मौजूद रह सकता है। रात को पोलिंग पार्टियों मतदान केंद्र पर ही सोएंगी। उन्होंने कहा कि पीओ हैंडबुक में वे सारी हिदायतें व नियम लिखे हैं जिनकी जानकारी चुनाव करवाने वाले अधिकारी को होनी जरूरी है। उन्होंने कहा कि मतदान के लिए बूथों पर महिलाओं व पुरुषों की अलग-अलग लाइनें लगवाई जाएं और एक पुरुष के बाद दो महिलाओं को वोट डालने के लिए भीतर भेजा जाए। वरिष्ठ नागरिकों व दिव्यांगजनों को बिना लाइन में लगे सीधे अंदर जाकर मतदान करने की सुविधा दी जाए। उन्होंने बताया कि चुनाव में लगे सभी कर्मचारियों को ईडीसी (इलेक्शन ड्यूटी सर्टिफिकेट) अथवा पोस्टल बैलेट के माध्यम से मताधिकार का अवसर मिलेगा। उन्होंने पोलिंग अधिकारियों को एएसडी (अबसेंट, शिफ्टिड व डिलिटिड) सूची, चैलेंज वोट, वीवीपैट टेस्ट वोट, स्टैच्यूटरी व नॉन स्टैच्यूटरी फार्म भरने, मतदान के लिए जरूरी पहचान पत्रों, मतदान प्रक्रिया संपन्न होने के उपरांत उसे सील करने और स्ट्रोंग रूम में जमा करवाने के बारे में भी उन्होंने विस्तार से जानकारी दी। इस दौरान पोलिंग पार्टियों को विडियों के माध्यम से ईवीएम वीवीपैट मशीनों के संचालन के बारे में बताया गया व उन्हें हैंड ऑन ट्रैनिग भी कराई गई।