शहीद राजा हसन खान मेवाती मेडिकल कॉलेज नलहड़ के सिक्योरिटी गार्डों को नवंबर माह से सैलरी नहीं मिलने की वजह से हड़ताल

0
104

हरियाणा ब्यूरो चीफ साहून खांन मेवात 

नूंह जिले के राजकीय शहीद राजा हसन खान मेवाती मेडिकल कॉलेज नलहड़ के सिक्योरिटी गार्डों को नवंबर माह से सैलरी नहीं मिलने की वजह से हड़ताल पर चले गए। मेडिकल कॉलेज नलहड़ में कई सालों से लगे हुए सिक्योरिटी गार्ड कर्मचारी मंगलवार से हड़ताल पर चले गए है। सिक्योरिटी गार्डो की हड़ताल की वजह समय पर वेतन नहीं मिलना है। मेडिकल कॉलेज में 300 के करीब सिक्योरिटी गार्ड पिछले कई दिनों से कॉलेज प्रशासन के चक्कर काट रहे थे।

समस्या का समाधान न होने पर आखिरकार मंगलवार को हड़ताल पर जाने का मन बना लिया। अपनी सैलरी को लेकर कई बार सिक्योरिटी गार्ड मेडिकल कॉलेज निदेशक व अन्य मेडिकल प्रशासन के अधिकारियों से मिल चुके हैं। मेडिकल कॉलेज में लगे हुए कर्मचारियों का कहना है कि एसआईएस सिक्योरिटी कंपनी द्वारा उन्हें समय पर वेतन नहीं दिया जा रहा है।कर्मचारी अपने वेतन के लिए अधिकारियों से मिल चुके हैं, लेकिन समस्या सुलझने का नाम नहीं ले रही है। मेडिकल कॉलेज में लगे हुए सिक्योरिटी गार्डों की समस्या जस की तस बनी हुई है। 

     बता दें कि 300 सिक्योरिटी गार्डों को पिछले 7 महीने से सैलरी नहीं दी गई है। कुछ कर्मचारियों की सैलरी कम दी जा रही है। जिसके बाद मेडिकल कॉलेज में लगे हुए सभी सिक्योरिटी गार्डों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का मन बना लिया।हड़ताल पर बैठे सिक्योरिटी गार्डों का कहना है

कि कंपनी समय पर वेतन नहीं दे रही है। जब वेतन की बात करते हैं तो मेडिकल कॉलेज में लगे हुए अधिकारी सिक्योरिटी गार्डों के साथ दुर्व्यवहार करते  है। कंपनी पहले भी गार्ड की नियुक्ति में भारी भरकम कमाई के लिए बदनाम हो चुकी है। एफआईआर तक कंपनी प्रबंधन पर दर्ज हुई, लेकिन कार्रवाई नहीं हुआ। कंपनी की ऊंची पकड़ की वजह से मेडिकल कॉलेज प्रशासन कंपनी की मनमानी पर कोई ध्यान नहीं देता। वहीं मेडिकल कॉलेज निदेशक डॉ. यामिनी ने कहा कि फिलहाल वह चंडीगढ़ में है। हड़ताल मामले में मेडिकल कॉलेज आने के बाद ही कुछ कहा जाएगा।