भरतपुर जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कामां   में कार्यरत चिकित्सक डॉ मनीष मीणा द्वारा  मरीजों के इलाज के नाम पर  हो रही अवैध वसूली की खबर चलाना कामां के एक पत्रकार को पड़ गया महंगा

0
37
क्राइम पब्लिकेशन की ख़ास रिपोर्ट
साजिद हुसैन: एंकर :- भरतपुर जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कामां   में कार्यरत चिकित्सक डॉ मनीष मीणा द्वारा  मरीजों के इलाज के नाम पर  हो रही अवैध वसूली की खबर चलाना कामां के एक पत्रकार को उस समय महंगा पड़ गया जब ठीक चिकित्सक डा मनीष मीणा की दबंगई दिखाते हुए नशे में धुत अपने दो अन्य साथियों को साथ लेकर  दो पक्षों में हुई लाठी-भाटा जंग की घटना की कवरेज करने गए एक पत्रकार देवेंद्र भट्टाचार्य से मारपीट करते हुए मोबाइल छीन लिया और मारपीट कर अस्पताल से बाहर निकाल दिया घटना के बाद मीडिया कर्मियों में रोष और मामला बढ़ता देख कामां सीओ रायसिंह बेनीवाल अस्पताल पहुंचे और आरोपी से चिकित्सक से पूछताछ कर पत्रकार से छीना गया मोबाइल बरामद कर लिया घटना का मामला पीड़ित पत्रकार देवेंद्र भट्टाचार्य  देर रात को कामां थाने में दर्ज कराया है
सरकारी अस्पताल में कार्यरत चिकित्सक डॉक्टर मनीष मीणा द्वारा मीडिया कर्मी को कवरेज करने से रोकने व अभद्र व्यवहार करने की सूचना जैसे ही मीडिया कर्मियों को लगी तो कामा ,पहाड़ी ,जुरहरा ,कैथवाडा के मीडिया कर्मियों की एक बैठक कामवन पत्रकार परिषद के कार्यालय पर परिषद के अध्यक्ष ओमप्रकाश पुजारी की अध्यक्षता में आयोजित की गई जिसमें घटना की निंदा व्यक्त करते हुए रोष व्यक्त किया गया और रैली निकालकर एसडीएम कार्यालय पहुंचकर आरोपी चिकित्सक की गिरफ्तारी व निलंबन की मांग को लेकर जमकर नोरेबाजी प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम सुरेश यादव को को ज्ञापन सौंपा आक्रोशित मीडिया कर्मियों ने सीओ रायसिंह बेनीवाल से मुलाकात कर चिकित्सक की जल्द गिरफ्तारी की मांग की पत्रकारों द्वारा क्षेत्रीय विधायक जगत सिंह को भी दूरभाष पर घटना के बारे में अवगत कराते हुए आरोपी चिकित्सक डा मनीष मीणा के तुरंत प्रभाव से निलंबन अथवा गिरफ्तारी की मांग की गई जिसमें विधायक ने भी जल्द सकारात्मक कार्रवाई का आश्वासन दिया उल्लेखनीय है कि कामां अस्पताल में भ्रष्टाचार चरम पर है चिकित्सकों द्वारा ड्यूटी टाइम में ही मरीजों से सौ सौ रूपये की अवैध वसूली की जाती है जिस का खुलासा कर अस्पताल में ही कार्यरत चिकित्सक डॉ मोहन लाल मीणा ने विधायक जगतसिंह के सामने ही कहा था कि मेरे अलावा अस्पताल में कार्यरत सभी चिकित्सक सौ सौ रुपए की वसूली करते हैं अस्पताल में व्याप्त अनियमितता और अवैध वसूली की खबरों को विभिन्न चैनलो व समाचार. पत्रो द्वारा चलाई गई थी खबरो से नाराज चिकित्सक मनीष मीणा ने इस घटना को अंजाम दिया और घटना के बाद आरोपी चिकित्सक ने मीडिया कर्मियों को  देख लेने की भी धमकी दी है वही पत्रकारों संगठनने पुलिस व प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि आरोपी चिकित्सक कि जल्द ही गिरफ्तारी व निलंबन नहीं हुआ तो थाने व अस्पताल के सामने धरना देकर आंदोलन चलाया जाएगा घटना की जानकारी मिलने पर बजरंग दल के जिला संयोजक रामेश्वर गुर्जर जिला आयोजना समिति के पूर्व सदस्य संजय भारती व कामां कस्बे के विभिन्न समाजवादी संगठनों ने विरोध जताया है और आरोपी चिकित्सक की गिरफ्तारी की मांग गिरफ्तारी निलम्बन की मांग की है

LEAVE A REPLY